ब्लॉग क्या है | Blog kya hai

ब्लॉग क्या है | Blog kya hai

नमस्कार वाचकमित्रो।

blog kya hai या फिर ब्लॉग किसे कहते है उस बात को समझाने के लिए मैं आपको इतिहास के पन्नो से २ उदाहरण देना चाहता हूँ। सबसे पहले मैं दोनों उदाहरणों को समझाऊंगा। उसके बाद आज के वक़्त के सन्दर्भ में ब्लॉग क्या है उसको समझेंगे। और अंत में टेक्निकल भाषा में ब्लॉग की व्याख्या को हम हिंदी में समझेंगे।

Table of Contents

इतिहास के पन्नो से उदहारण १

अगर आपको पता हो या फिर शायद आपने पुरानी मूवीज में देखा होगा की कुछ लोगो को डायरी लिखने की आदत होती थी। ऐसे ही अगर किसी ने अपनी डायरी में कुछ दिलचस्प और अविश्वसनीय बाते लिखी हो, तो उसे किसी किताब के रूप में भी प्रकाशित करवाते थे। यह एक पैसे कमाने का अच्छा अवसर साबित होता था।

इसके अलावा कोई पढ़ा लिखा इंसान या फिर अपने क्षेत्र में निपुण हो ऐसा व्यक्ति, जैसे की डॉक्टर या फिर इंजीनियर कह लीजिये, जो की अपने काम करने के तरीको और अपने परीक्षणों के अवलोकन के बारे में लिखते थे, उस डायरी को पत्रिका (जर्नल – journal) अक्सर कहा करते थे। ऐसी डायरी को भी किताब के रूप में प्रकाशित करवाते थे।

  • ऊपर बताई गयी दोनों परिस्थिति में लेखक को फायदा ही होता था। जैसे की
    • किताब की बिक्री से रॉयल्टी के रूप में आमदनी होना
    • अपनी बात लोगो तक पहुँचाने का एक उत्तम तरीका
    • समाज में इज़्ज़त और रुतबे का बढ़ना
    • समाज और सरकार में ऊँचे होद्दे पर बिराजमान लोगो से मेल जॉल बढ़ना

इतिहास के पन्नो से उदहारण २

अब एक और परिस्थिति को समजते है।

डायरी तो सालाना होती है। एक साल में ३६५ दिन होते है। अगर एक दिन का एक पन्ना भी गिनो तो डायरी में ३०० के ऊपर तो कोरे कागज़ होते ही है। इसका मतलब यह है की एक व्यक्ति जो अपनी डायरी में हररोज़ अपनी पूरी दिनचर्या को लिखता है, तो उस इंसान को अपनी डायरी को समाप्त करने में १ साल तो लग जायेगा।

अब यह ज़रूरी तो नहीं की हररोज़ उसके साथ कुछ दिचस्प घटना घटे। या फिर यह भी तो हो सकता है की उसी व्यक्ति के साथ कुछ ऐसा हो जो समय संवेदनशील (time sensitive) हो। यह ध्यान रहे की हम साल २००० से पहले की बात कर रहे है जब सोशल मीडिया नहीं हुआ करता था। और हमारे भारत में घर तो क्या ज़्यादातर दफ्तरों में भी कंप्यूट नहीं हुआ करता था। उस दौर में लोग अपने अनुभवों को समाचार पत्रों में प्रकाशित करवाते थे।

आज के समय में ब्लॉग क्या है | Aaj ke samay mein blog kya hai

blog kya hota hai
blog kya hota hai

अगर आज के समय की बात करे तो ब्लॉग वही माध्यम है जिसने ऊपर बताई गयी दोनों परिस्थिति में उपयोग में आने वाली किताब या समाचार पत्र की जगह ले ली है। किताब या किसी लेख के अख़बार में छपने पर प्रकाशक लेखक को रॉयल्टी के रूप में या फिर मेहनताने के रूप में कुछ न कुछ धनराशि देते थे।

अगर ब्लॉग की बात करे, तो इसमें कोई प्रकाशक नहीं होता है। इसमें लेखक खुद ही प्रकाशक होता है। इसमें जो कमाई होती है वो विज्ञापन से ही होती है। यह विज्ञापन अलग अलग प्रकार के होते है। इनके नाम और इनकी विस्तृत जानकारी के बारे में किसी और दिन चर्चा करेंगे।

तो आसान भाषा में यह समज लीजिये की ब्लॉग एक डिजिटल डायरी या जर्नल है।

ब्लॉग क्या होता है हिंदी में | blog kya hota hai in hindi

blog kya hota haii in hindi
blog kya hota haii in hindi

अगर आप विकिपीडिया पे लिखे हुए इस लेख को पढ़ेंगे तो पहले दो वाक्यों में लिखा है की ब्लॉग वर्ल्ड वाइड वेब पे प्रकाशित हुयी एक वेबसाइट है जो जानकारी लेने का या चर्चा करने का एक माध्यम है। इसमें जो भी लेख आखिर में प्रकाशित हुआ है, वो सबसे ऊपर दीखता है।

आसान भाषा में ब्लॉग एक वेबसाइट है जो लेखक को अपने विचार या अनुभव को पूरी दुनिया के साथ साझा करने का सबसे उत्तम अवसर और एक बेहतरीन माध्यम है।

अगर आज के वक़्त की बात करे तो ब्लॉग एक बोहत ही उन्नत या जटिल बस्तु है। हलाकि बुनियादी तौर पर मैंने जो आपको समझाया है उतना काफी है। इन बातो को ध्यान में रख कर आप आगे इस पर अध्ययन कर सकते हो।

ब्लॉग क्या होता है – क्रमागत उन्नति की गाथा | Blog kya hota hai – a tale of evolution

Blog kya hota hai - a tale of evolution
Blog kya hota hai – a tale of evolution

अब हम साल २००० के बाद की बात करते है जब धीरे धीरे आम लोगो के पास कंप्यूटर आया और फिर मोबाइल फ़ोन आया। यह वह दौर था जब लोग अपने ब्लॉग पर कुछ भी लिख देते थे और उनका काम चल जाता था।

पर ऐसा लम्बे समय तक नहीं चला। धीरे धीरे सोशिअल मीडिया आने लगा और ऐसे ब्लोग्स जिसमे कंटेंट या लेख की क्वालिटी अच्छी नहीं थी वो पिट गए या फिर पीटने लगे।

और फिर आया यूट्यूब और उसके साथ ए अच्छे कैमरा वाले मोबाइल फ़ोन। इससे हुआ यह की जो लोग कंटेंट क्रिएशन के नाम पे ठगी करती थे, उन लोगो के ब्लोग्स बुरी तरह से पिट गए।

हाँ, पर जो लोग सच में अच्छा कर रहे है, आप उनके ब्लॉग का अवलोकन करे। वो लोग बोहत ही अच्छा कंटेंट दे रहे है।

अगर आपको भी अपना ब्लॉग बनाना है तो आप अपना ब्लॉग blogger या फिर wordpress पे बना सकते हो। Tumblr और Medium भी अच्छी वेबसाइटस है। आप फ्री में भी अपना ब्लॉग बना सकते हो। मैंने इस पर एक अच्छा सा आर्टिकल लिखा है। उसका शहिषारक है ‘फ्री में ब्लॉग कैसे बनाये’

ब्लॉग के बारे में और भी जानकारी पाने के लिए आप इन २ लेखो को जरूर से पढ़े। यह दोनों लेख विकिपीडिया पे प्रकाशित हुए है। ब्लॉग क्या है और Jorn Barger.

mujhe ummeed hai ki blog kya hota hai yeh aap samaj gaye honge. Aur main yeh bhi asha karta hoon ki aapko yeh article pasand aya hoga.

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया करके निचे टिप्पणियों में मुझे इसके बारे में ज़रूर बताये। अगर मेरी कोई गलती हुयो है तो भी बताइये। उसे मैं जल्द जल्द सुधार दूंगा।

अगर आप मुझसे संपर्क करना चाहते हो तो आप मुझे यह contact form भेज सकते हो।

Spread the love

Leave a Comment