ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाये | blog kis topic par banaye

ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाये | blog kis topic par banaye

इस विषय पे अपनी बात शुरू करू उससे पहले आपको १ बात बताना चाहता हूँ।

  • सबसे पहले तो आपको धन्यवाद एवम शुभकामनाये। नया ब्लॉग शुरू कर रहे हो इसलिए या फिर नया ब्लॉग शुरू करने का सोच रहे हो इसलिए। मैंने ब्लॉग्गिंग के विषय पर कुछ लेख लिख रखे है। आगे और भी इसी बिषय पर लिखने वाला हूँ। तो कृपया करके बाकी लेखो को भी थोड़ा पढ़ लीजियेगा। आपको फायदा ही होगा।

तो चलिए, शुरू करते है।`

Table of Contents

३ तरीके: ब्लॉग किस टॉपिक पर बनाये | 3 tareeke: blog kis topic par banaye

ब्लॉग का टॉपिक या विषय सुनिश्चित करने के ३ तरीके है। पहले हम इन तीनो तरीको के बारे में बात करेंगे।

  1. आपको क्या आता है
  2. लोग क्या कहते है
  3. ट्रेंड में क्या है

मान लीजिये की आप भी मेरी तरह कुछ ज़्यादा ही प्रतिभाशाली व्यक्तित्व के स्वामी है ९ (व्यंग) की जो ऊपर दिए गए किसी भी तरीके में शामिल नहीं हो पाते, तो घबराइए मत। आपके लिए १ और तरीका है।

आपको क्या आता है

सबसे आसान विषय जिस पर आप ब्लॉग लिख सकते हो वो यह है की आपको क्या आता है।

आपके पास अगर कोई विशेष कला या फिर आपका कोई शौक है तो उस पे आप ज़रूर लिखे।

ज़्यादातर लोग मेरी बात को समाज गए है पर कुछ नासमज लोगो के लिए है की पेड़ पे चढ़ के फल तोड़ने को कला या शौक नहीं कहते। तो सब पहले आप अंतर समजिये। और यह जानिये की आपका शौक क्या है।

  • क्या आपके पास कोई विशेष कला है जिसे आप
    • दुसरो को सीखा सको
    • दुसरो को दिखा सको की आप क्या करते हो और कैसे करते हो
    • लोगो को बता सको की आप क्या करते हो और अपनी कला को बेचो

अगर आपको यह लगता है की आपके पास ऐसा कुछ भी नहीं है तो घबराइए मत।

आपके ब्लॉग बनाने के जोश को मैं अच्छी तरह से समझता हूँ। इसी लेख में मैंने आगे इसके बारे में विस्तार से बताया है की आप क्या और कैसे कर सकते हो। और १ बात, इसके आगे मैंने जो कुछ लिखा है वो सभी लोगो को लागु पड़ता है।

लोग क्या कहते है – blog kis topic par likhe

यहाँ पर आपको थोड़ी सी मेहनत करनी होगी। तरीका मैं आपको बता रहा हूँ पर करना आप ही को होगा। इस तकनीक को सहूलियत के लिए हम बोलेंगे ‘अनुसंधान और विश्लेषण’।

यह तकनीक २ चरण में बंटी हुयी है।

चरण १: अनुसंधान

सबसे पहले आप एक पेन और पेपर (कागज़) साथ में रखे।

इस चरण में जो ज्ञानी लोग है की जो यूट्यूब पे ब्लोगगोंग के बारे में ज्ञान देते है की कौन से विषय पर ब्लॉग बनाये, उनके वीडियो देखने है। वो लोग जितने भी विषय के बारे में बताते है, उन सारे विषय को आप अपनी किताब में लिख ले। ऐसा आपको जितना ज़्यादा हो सके उतने ज़्यादा वीडियो देख के पूरी एक लिस्ट बनानी है।

आप गूगल में भी खोज कर सकते है।

चरण २: विश्लेषण

यह बोहत ही महत्त्वपूर्ण चरण है।

  • सबसे पहले जितने भी कॉमन (सामान्य) विषय या टॉपिक है जिनके बारे में सभी लोग बोल रहे है, उन्ही आप होनी सूचि या लिस्ट से काट दो।
    • उदहारण के तौर पे अगर आपने ५ यूटूबेर के वीडियो देखे और ५ में से ३ ने यह बताया की आप ‘करेले की रसोई‘ कैसे बनाये उस पर लिखे, तो सबसे पहले आप करेले की रसोई पे नहीं लिखेंगे।
    • कारन यह है की आप ही की तरह उस वीडियो को बोहत सारे लोगो ने देखा होगा। ज़रा सोचिये की उनमे से कितनोने यह विषय पर ब्लॉग बना लिया होगा? तो फालतू की प्रतियोगिता से बचिए और कुछ एक दम नया लेकर आइये।
    • आपको SEO में काम मेहनत करनी पड़ेगी और आपका ब्लॉग जल्दी से गूगल की नज़र में आएगा।

ऊपर वाली प्रक्रिया में आपने ऐसे विषय को ढूँढा था की जो आम या सामान्य नहीं है। अब हम इससे उल्टा करने वाले है।

  • जितने भी विषयो को ऊपर वाली प्रक्रिया में काटा था, अब आप उसकी एक अलग से सूचि बनाये।
    • उदहारण के तौर पे अगर १० में से ८ ज्ञानी लोगो ने यह बोलै है की ‘करेले की रसोई’ पे ब्लॉग बनाओ तो हम भी उसी विषय पे काम करेंगे, मगर थोड़ा हटके।
    • अब हम अपना जो विषय है उसके ऊपर ब्लॉग ना बनाके उसके इर्द गिर्द अपने ब्लॉग बनाएंगे।
    • यहाँ पर हम ‘करेले की रसोई’ पे नहीं बल्कि ‘करेले’ बे ब्लॉग बनाएंगे।
    • जैसे की करेले की खेती घर पे कैसे करे, करेले को बाजार से कैसे खरीदे, करेले की गुणवत्ता का पता कैसे करे, करेले की कड़वाहट को कैसे कम करे इत्यादि विषयो पर लिखेंग।
    • और करेले की सब्ज़ी कैसे बनाये यह लिखने में अपना वक़्त बर्बाद नहीं करेंगे।

अगर ऊपरवाली बात को एक उदाहरण से समजाऊँ तो यह है की अगर लोगो में सोना खोजने या खोदने की होड़ लगी हो तो हमे भी उस दौड़ में नहीं कूदना चाहिए। बल्कि हमे फावड़ा बेचना शुरू कर देना चाहिए।

blog kis topic par likhe yeh nirnay karna asaan nahi hai. isme mehnat aur waqt dono lagenge. to aap ko thoda dhairya se kaam lena hoga.

ट्रेंड में क्या है – kis topic par blog banaye

kis topic par blog banaye
kis topic par blog banaye

यहाँ पर आपको यह देखना है की नया ट्रेंड क्या है। ऐसा कौन सा विषय है जिस पर लोगो का झुकाव कुछ ज़्यादा है।

इस विषय को मैं २ उदाहरण देके बताने वाला हूँ।

  • उदहारण १: आजकल बिटकॉइन और ब्लॉकचैन बोहत ही ज़्यादा प्रचलन में है। या यूँ कहलो की क्रिप्टोकरन्सी कुछ ज़्यादा ही ट्रेंडिंग या फैशन में है।
    • तो आप क्रिप्टोकरेन्सी पे ब्लॉग बनाओ जैसे की बिटकॉइन कैसे खरीदते है, डॉजकॉइन कैसे खरीदते है वगैरा वगैरा।
    • या फिर आप क्रिप्टोकरेन्सी में हो रही ठगी और धोखाधड़ी के बारे में और उनसे बचने के तरीको के बारे में बताये।
  • उदहारण २: क्या आप आज के ज़माने में किसी पिरामिड स्कीम या MLM मार्केटिंग वाली किसी कंपनी से जुड़ेंगे? आप में से ज़्यादातर लोग मना करेंगे और जुड़ना भी नहीं चाहिए।
    • तो MLM में अभी का ट्रेंड है ‘ना करने का’।
    • ऐसे वक़्त पे अगर आपने यह लिखा की MLM करने के फायदे तो ऐसा लेख या ब्लॉग आपको कोई फायदा पहुंचाए इसकी सम्भावना कम ही है। और जनमानस का भरोसा आप पे से उठ जायेगा ये अलग।

कहने का भावार्थ यह है की लोगो का झुकाव जिस तरफ है उस पर कम कीजिये।

चौथा तरीका – blog kis topic par banaye

blog kis topic par banaye
blog kis topic par banaye

अगर आप भी मेरी तरह हो, एकदम सामान्य इंसान की जिसकी पढाई ठीकठाक थी, पर अन्य कोई कला या विशेषताएं नहीं तो यकीन मानिये की आपके लिए एकदम आसान होगा।

क्यूंकि आप जिस भी विषय पर अपना ब्लॉग बनाने का सोचेंगे उस विषय को आपने सीखना है। कोई भी चीज़ हो उसे सीखना आसान है पर अगर आपने पहले से ही कुछ सिख रखा है और फिर उसमे आगे और सीखना थोड़ा मुश्किल होता है।

तो चलिए बात करते है की आप क्या कर सकते है।

  • अगर आपने कॉलेज करि है, मतलब की अगर आप ग्रेजुएट या स्नातक है तो आप अपने कॉलेज के विषयो पर लेख लिख सकते है। यहाँ पर आप दुसरो को उस विषय को आसान भाषा में समजा सकते हो।
  • अगर आप कोई क़ाम या नौकरी करते हो, तो आप उस क़ाम के इर्द गिर्द भी लिख्ह सकते है।
    • अगर आप कोई कॉल सेंटर में क़ाम करते हो तो आपको पता ही होगा की कैसे ‘चुनौतीये लोगो’ के फ़ोन आते है। तो आप अपने ऐसे ही अनुभव के बारे में लिखे।
    • साथ में यह ज़रूर लिखे की कॉल सेंटर की नौकरी कैसे मिल सकती है, कितनी तनख्वा होती है, नौकरी में आगे बढ़ने के लिए क्या करना पड़ता है, इत्यादि।
    • गोपनीयता का ख्याल ज़रूर रखे। आप अपना नाम दे सकते है पर किसी और का नाम देने से बचे। अगर हो सके तो आप जिस कंपनी के लिए नौकरी करते है, उस कंपनी का नाम भी देने से बचे।
  • अगर आप बेरोज़गार है, तो आप अपनी बेरोज़गारी के आलम पे लिख सकते है। आप अपना पूरा दिन कैसे व्यतीत करते है यह बताये।
  • अगर आप मेरी तरह ‘ज्ञान बांटू’ किस्म के इंसान है, तो सबको ज्ञान देते रहिये और सबका भला करते रहिये।
    • हर रोज़ कोई एक सवाल चुनिए और उस पे लोगो को ज्ञान दे दो।
  • अगर आपको अखबार पढ़ने का शौक है तो जो राजनैतिक खबरे है आप उनका विश्लेषण करके अपनी राय और उसके पीछे के कारण को आप अपने ब्लॉग में लिख सकते हो।
  • अगर आप एक विद्यार्थी है तो आप अपने और अपने सहपाठी के जीवन में आने वाली समस्याओ एवम उनके समाधानों पर लिख सकते है।
    • यह एकदम अनोखा विषय है। क्योंकि इस पर अच्छे से लिखने के लिए आपका एक विद्यार्थी होना बोहत ही ज़रूरी है। तो हरकोई इस विषय में नही कूदेगा।
    • एक बार जब आपका ब्लॉग सफल हो जाता है और आपके वाचको को आपकी लेखनशैली पसंद आती है तो आप धीरे धीरे अन्य विषयो पर भी लिख सकते हो।
  • अगर यह भी आप के लिए मुश्किल है या मुमकिन नहीं है, तो आप अपने जीवन के रोज़ाना अनुभव पर लिखे। इस विषय पर मैंने एक लेख लिख रखा है।

यह यूट्यूब का लिंक है। इसमें यूट्यूब के कुछ वीडियो की लिस्ट है। यह मेरे वीडियो नहीं है। पर मुझे लगा की यह वीडियो आपके लिए अच्छे रहेंगे।

blog kis topic par banaye is vishay par maine vistaar se saral bhasha mein is article main aapko saare tareeko ke baare mein bataya hai. agar iske baad bhi aapko koi deekat aati hai ya koi uljhan hai to aap mujhe puch sakte ho. iske liye aap niche tippaniyo mein apna sawal likh de. aap mujhe contact me par bhi sampark kar sakte ho.

Spread the love

Leave a Comment